म्युचुअल फंड कि कुछ सालों साल अच्छा प्रतिफल देनेवाली योजनाएं

जब कोई भी इक्वटी योजना शुरू होती है तो शुरू मे रु.१०/- यूनिट कि कीमत होती है, आज एन.ए.व्ही. जितनी है उसे १० से विभाज लेना जो जबाब आता है उतने गुना निवेश का मूल्य आज बढ़ गया है ऐसा समज लेना  उदा. HDFC Top200 Fund इस योजना कि एन.ए.व्ही.  आज रु.३४२.१५ है तो उसे १० से विभाजित करेंगे तो जबाब आता है ३४.२१ याने कि अगर सप्टे. १९९६ मे अगर किसीने रु.१०००० का निवेश किया है तो आज उसका मूल्य है रु.३,४२,१००/-.  एक बात याद रखना म्युचुअल फंड मे कभी भी दस सालसे जादा समय के लिए ही निवेश करना जादा फायदेमंद होता है.

म्युचुअल फंड मे कई प्रकारकी योजना होती है, हरेक मे कम जादा जोखिम होती है.  आपको योजना का चयन करने के लिए बहुत सारे विकल्प उपलब्ध होते है.

इस संभाग मे हमने, हम जिन म्युचुअल फंड कंपनी के स्कीम्स का वितरण करते है ऐसे कम्पनियों के कुछ गिने चुने इक्विटी स्कीम के पिछला कार्य-निष्पादन (Past Performance) दिया है. इसमें गये सालोमे चक्रांकित कितना प्रतिफल मिला है और अगर आप एस.आय.पि. के माध्यम से योजना मे, योजना आरंभ होने के दिनसे आज तक निवेश करते थे, तो आज के दिन आपके निवेश का मूल्य का बन जाता था यह समझने के लिए SIP Past Performance भी दिया है.  इसका अंदाज लगाने के लिए, अगर आपने हर महिना महज रु.१०००/- का निवेश हर महिना किया होता, तो कितना निवेश मूल्य होता है इसका उदहारण यहाँ पे दिया है.   इसे देखकर आप योजना का चयन कर सकते है.   आप अगर रु.१३००० कि सीप करना चाहते हो और ऐसा आप करते तो, आप के निवेश का मूल्य आज क्या हो जाता है यह देखना है तो, इस उदहारण मे दिए हुए अंदाज को १३ से गुणा कर इसे जान सकते है.

अगर आप को हर श्रेणी के सर्वोत्तम योजना देखनी है तो आप निम्नलिखित योजना के श्रेणी के नाम पर क्लिक करे:

इक्विटी सेव्हिग्स योजनाएं

ऐसे योजना का निवेश शेअर बजार, आर्बिट्राश़ संधि और कर्ज रोखे इनके मध्यमे किया जाता है, इसलिए इस प्रकारके योजना में सबसे कम जोखिम होती है, इसलिए ऐसी योजनाएं बैंक एफ.डी. के लिए अच्छा पर्याप्त माना जाता है.

तुलित योजनाए

ऐसे योजनओंका निवेश इक्विटी और डेब्ट में किया जाता है, इसका प्रमाण योजनाके उद्देश के अनुसार तय किया जाता है.  मध्यम या लम्बे अवधि के निवेश के लिए ऐसी योजनाए अच्छी मानी जाती है.

Large Cap Schemes

जाने माने बड़े आकर के  कम्पनियों के शेअर्स मे निवेश करनेवाली योजनाए, लम्बे अवधिकेलिए निवेश का अच्छा विकल्प माना जाता है.

Mid Cap Schemes

माध्यम आकर के कम्पनियों, जो कि भविष्य मे बड़ी कंपनी होने कि ताकत रखती है, मे निवेश करनेवाली योजनाए:

Small Cap Schemes

आज छोटे मगर भविष्य मे मध्यम और बादमे बड़ी कंपनी बनने के ताकत रखनेवाली कम्पनियों के शेअर्स मे निवेश करनेवाली योजनाए

Equity Link Tax Savings Schemes (ELSS)

आयकर धारा ८०-सी के तहत कराधान मे राहत देनेवाली योजनाए

Malti Cap Schemes

शेअर बाजार के, बड़ी कम्पनिया, मध्यम आकर कि कंपनियां और छोटे आकर के कंपनिया, ऐसे तीनो प्रकारके कम्पनियों के शेअर्स मे निवेश करनेवाली डाइव्हर्सीफाइड योजनाए

 

Sectoral Schemes

सिर्फ किसी एक ही क्षेत्र के कम्प्नोयों के शेअर्स मे निवेश करनेवाली क्षेत्रीय योजनाए

Thematic Schems

किसी हेतु विषयक योजनाए